Call Us: +91 99581 38227

From 10:00 AM to 7:00 PM (Monday - Saturday)

Varshphal Vichar - Hindi
  • SKU: KAB1136

Varshphal Vichar - Hindi

Rs. 68.00 Rs. 80.00
Shipping calculated at checkout.

वर्ष फल - विचार

फलित ज्योतिष एक उपयोगी विज्ञान है l ज्योतिर्विद महर्षियो के दीर्घ अनुभव और शोध के बाद यह प्रकाश में आया है l फलित ज्योतिष का ही एक मूल अंग - जन्मकुण्डली द्वारा शुभाशुभ विवेचन आज विश्व भर में प्रचलित और मान्य है l

कुण्डली द्वारा शुभाशुभ समय की जानकारी के लिए प्राय: दो पद्धतियाँ प्रचिलित है :

१. विशोत्तरी दशा- अन्तर्दशा एवं २. वर्षफल l ये दोनों एक दूसरे के पूरक है l प्रस्तुत पुस्तक वर्षफल सम्बन्धी सम्पूर्ण  सम्बन्धी सम्पूर्ण गणित उदाहरणों एवं वक्तव्यों के साथ समझाने का प्रयास किया गया है  l इसके समस्त योग अनुभव, शोध एवं उपयोगिता के आधार पर लिखे गए है l

   वर्षफल का अपना एक विशिष्ट महत्व है l   इसमें  शुभाशुभ विवेचन की अवधि वर्ष भर मात्र की होती है ; अत: यह विशेष सूक्ष्म और उपयोगी माना गया है l प्राय: व्यापारी वन्धु अपना वर्षफल बनवाकर उसी के अनुसार व्यापार सम्बन्धी सूक्ष्म योजनाएँ बनाते है l राजकीय नौकरी में नियुक्त हजारो व्यक्ति वर्षफल के आधार पर ही अपने स्थानांतरण और पदोन्नति की जानकारी चाहते है l हमें विश्वास है कि केवल इसी पुस्तक के आधार पर आप विशुद्ध वर्षफल बनाकर स्वास्थ्य, धन, जमीन- जायदाद, पुत्र, व्यापार, विवाह, भाग्य और आय -व्यय आदि से सम्बंधित बातो की सही - सही जानकारी प्राप्त कर सकेंगे l

पुस्तक को जन साधारण के लिए अधिकाधिक उपयोगी बनाने के लिए अत्यंत सरल और बोलचाल की भाषा का प्रयोग किया गया है l

                                 

RELATED BOOKS

RECENTLY VIEWED BOOKS

BACK TO TOP