Call Us: +91 99581 38227

From 10:00 AM to 7:00 PM (Monday - Saturday)

Tantra Prayog
  • SKU: KAB1107

Tantra Prayog [Hindi]

Rs. 170.00 Rs. 200.00
Shipping calculated at checkout.

तंत्र प्रयोग

१. तंत्र प्रयोग के द्वारा स्थूल से सूक्ष्म का तथा सूक्ष्म से स्थूल का राशस्य ज्ञात होता है l

२. तंत्र के द्वारा समस्त कामनाओ को प्राप्त किया जा सकता है l

३. तन्त्र परमतत्व से साक्षात्कार कराता है l

४.तंत्र के द्वारा व्यक्ति, समाज और राष्ट्र की उन्नति होती है आज जो भी प्रगति है  वह सब तन्त्र ही है यथा - राजतन्त्र, मशीनतंत्र, उर्वरक तन्त्र आदि l

५. तन्त्र द्वारा असंभव को भी सम्भव बनाया जाता है l

६.तन्त्र द्वारा भाग्य को भी अनुकूल बनाया जाता है l

७.तन्त्र मृत्यु के बाद के रहस्य को भी प्रस्तुत करता है l

८.तन्त्र एक मौन क्रिया है जिससे बड़े - बड़े आश्चर्यजनक तथ्य प्रस्तुत होते है l

९. तन्त्र का प्रयोगो का आशय अन्यासी और अघोरियों से नहीं बल्कि साधारण मनुष्यो से सम्बन्धित है l

१०. तन्त्र का दुरुपयोग करने वाले समाज के शत्रु तथा महापापी है l

RELATED BOOKS

RECENTLY VIEWED BOOKS

BACK TO TOP