rahasyamay-vakri-graha
  • SKU: KAB1053

Rahasyamay Vakri Graha [Hindi]

₹ 136.00 ₹ 160.00
Shipping calculated at checkout.

वक्री ग्रह जातक के जीवन पर किस प्रकार का प्रभाव डालेंगे, यह जिज्ञासा का विषय रहा है l  इस पर प्रकाश डालने का एक छोटा सा प्रयास इस पुस्तक के रूप में प्रस्तुत है l वक्री गति से चलने की योग्यता रखने वाले पांच ग्रह बुध , शुक्र , मंगल , गुरु ,व शनि का खगोलीय विश्लेषण विस्तार से किया गया है l ज्योतिष के विभिन्न ग्रंथों से इस विषय पर विद्वानों द्वारा दिए गए श्लोकों का संकलन भी है l यह पुस्तक आपके पूर्व प्रकाशित कार्य मिस्ट्री ऑफ़ रेट्रोग्रेड प्लैनेट्स का हिंदी संस्करण है l इस पुस्तक में आप पाएंगे :

१ वक्री गति का खगोलीय दृष्टिकोण से विवेचन

२ मंद, कुटिल,वक्र और अनुवक्र गतियों का सरल विवेचन और पहचान

३ नक्षत्र और ग्रहों की वक्री गति

४ ज्योतिष ग्रंथों में वक्री ग्रहों का विवरण और फलादेश की विधि

५ वास्तविक कुंडलियों द्वारा वक्री ग्रहों के प्रभाव का आकलन

६ राजनैतिक , सामाजिक कार्यक्षेत्र के लोगों की वास्तविक कुंडलियों का परिक्षण

७ कलाकार , फ़िल्मी हस्तियां, कवि, गायक आदि की कुंडलियां और वक्रत्व का प्रभाव

८ क्रीडाजगत के असल उदाहरणों से वक्रत्व के परिणाम

९ वैवाहिक सम्बन्ध और वक्री ग्रह

१० संतान सुख और वक्री ग्रह

११ विविध व्यक्तित्व और वक्री ग्रह

१२ वक्र गति के फल और परिणाम

RELATED BOOKS

RECENTLY VIEWED BOOKS

BACK TO TOP