jeevan-oorza-ke-rahasya
  • SKU: KAB0995

Jeevan Oorza ke Rahasya [Hindi]

₹ 149.00 ₹ 175.00
Shipping calculated at checkout.
DESCRIPTION

जीवन ऊर्जा के रहस्य 

भारतीय मनीषी हज़ारो वर्षो से कहते आए है कि यह जगत ऊर्जा का ही खेल है और ऊर्जा का स्रोत है शब्द है ओंकार I विराट जगत सूक्ष्मतम ओंकार से निर्मित है I हमारे मनीषियों ने उस ऊर्जा पर चिंतन किया और उसी पर असंख्य प्रयोग किये है I यह बात अध्यात्म मार्ग के सभी साधको के लिए अनुभवगम्य है कि परमात्मा की ऊर्जा सदा बरसती रहती है I मनुष्य जितना उसका अहसास करेगा, उतना ही परमात्मा के निकट पहुचेगा I 

स्थूल शरीर से जो ऊर्जा प्रकट होती है, वह स्थूल शरीर के भीतर जो सूक्ष्म शरीर है उसमे स्थित है I उसे ऊर्जा स्रोत या 'एनर्जी बॉडी' कहते है I योग ने इस सूक्ष्म शरीर में स्थित सात चक्रो के माध्यम से ऊर्ध्वगमन की बात की है I सबसे निचे मूलाधार चक्र से ऊर्जा को उठाते हुए भीतर के सूक्ष्म चक्रो क्रमश : स्वाधिष्ठान, मणीपुर, अनाहत, विशुद्ध, आज्ञा से गुजरकर अन्ततः सहस्त्रार में पहुचना ही आध्यात्मिक मार्ग की मंजिल है I यही प्रभु मिलन है और यही पहुचकर साधक उद्दघोष कर उठता है 'अहम ब्रह्मासिम I ' 

इस ऊर्जा को जगाने के लिए साधक, प्राणायाम या योग का सहारा लेता है I 

परमात्मा ने जो हमे दिया है उसके प्रति धन्यवाद से भरना ही पार्थना है I दिव्य ऊर्जा से ओत - प्रोत व्यक्ति ही अहोभाव में डुब सकता है I यह किताब उसी भागवत शक्ति के रहस्यो को उजागर कर, उसे जगाने की विधि  सिखा सकेगी I

RECENTLY VIEWED PRODUCTS

BACK TO TOP