Call Us: +91 99581 38227

From 10:00 AM to 7:00 PM (Monday - Saturday)

Jaimini Mukta (Pearls From Jaimini) - Hindi
  • SKU: KAB0767

Jaimini Mukta (Pearls From Jaimini) - Hindi

Rs. 128.00 Rs. 150.00
Shipping calculated at checkout.

पाराशर  द्वारा स्वीकृत  लेकिन पाराशर होरा में कुछ कम विस्तार से बताए गए महत्वपृर्ण और सटीक पहलुओं को  मुनि जैमिनि ने सूत्र  शैली में कहा था । चार अध्याय और लगभग 1100 सूत्रों द्वारा तार्किक शैली में विवेचित फलित ज्योतिष के जैमिनी प्रोक्त  सभी नियमों को व्यवहारिक, सरल , सुबोध शैली में वास्तविक उदाहरण सहित समझाया गया है ।

० फलित ज्योतिष : पाराशर ने सुझाया , जैमिनि ने बताया;

० पराशर, जैमिनि और वृद्धकारिकाओं की  सोलह आना सहमति की त्रिवेणी ;

० यथाप्रसंग पाराशरी होरा  के साक्ष्यों  से परिपोषित ;

० पद, उपपद, कारकांश , वर्णद, अर्गला आदि का बेबाक विवेचन;

० ग्रह उपग्रह, राशि , भाव , षडवर्ग ,विशेष लग्न ,कारक मारक विवेचन ;

० राशि दशाओं का फल सहित सोदाहरण विस्तृत विवरण;

० पाक व भोग  राशि से दशाफल: पराशर व जैमिनि दोनों को मान्य;

० विंशोत्तरी आदि नक्षत्र दशाएं जैमिनि को भी मान्य;

०पाराशरी प्रोक्त आयु निर्णय की एक विशेष पद्धति का जैमिनि द्वारा विस्तार;

०आयु: साधन की पूरी प्रक्रिया उदाहरण सहित;

०प्रसव पूर्व और नवजात (प्रीनेटल & निओनेटल ) ज्योतिष नियमों का साक्षात्कार;

०पिता की कुण्डली से गर्भस्थ शिशु का जन्म समय व लग्न:

०कई नए राजयोगों का विस्तृत उल्लेख;

०त्रिशाशं व कारकांश से रोग विचार की अनोखी और कारगर पद्धति;

०कारकांश से पति पत्नी का अनूठा विचार; वास्तविक उदाहरण;

०स्त्री ज्योतिष के नियमो का मनोहर संगम ; 

०मंगलीक आदि दोषों और विवाह भंग के आज भी उपयोगी नियम;

०और अन्त में जैमिनि मुनि के बिखरे मोती;

०रम्य कलेवर: विषय मनोहर: ऋषि मुनि वृद्धों का मत संगम;

RELATED BOOKS

RECENTLY VIEWED BOOKS

BACK TO TOP