hastrekhaon-dwara-dhan-prapti-ke-saral-upaya
  • SKU: KAB1723

Hastrekhaon Dwara Dhan Prapti ke Saral Upaya [Hindi]

Rs. 128.00 Rs. 150.00
Shipping calculated at checkout.

 शास्त्रों में लिखा है  कि भगवान ने हर इंसान की संपूर्ण गाथा दो किताबों में लिखी है। एक किताब यमराज के लेखा अधिकारी चित्रगुप्त के पास है और दूसरी किताब इंसान का खुद का हाथ है।

हस्तरेखाएँ आपके भूत, भविष्य और वर्तमान की साक्षात्‌ तस्वीरें होती हैं जो वही सच्चाई बयां करती हैं जो वास्तव में आपकी तकदीर में लिखी होती  है। कुछ हस्तरेखाएँ जन्म से हाथों में उकरी होती हैं, कुछ कर्मों से बनती-बिगड़ती हैं। हस्तरेखाओं को प्रबल करके भाग्य को भी अपने अनुकूल बनाया जा सकता है।

हाथों की विभिन्‍न रेखाओं द्वारा हमें व्यवसाय की सही स्थिति का पता चलता है | कई बार चले-चलाये कारोबार में रुकावट स्वरूप काम-काज बंद तक करने की नौबत आ जाती है, या मेहनत के बावजूद भी फल नहीं मिलता यह सब हाथों की रेखाओं में छिपे दोषों की वजह से होता है | इन रेखाओं के माध्यम से हम मनचाही तरक्की , धन-दौलत, मान-सम्मान पा सकते हैं। इस पुस्तक में ऐसी अनेक सरल, सहज व कारगर विधियाँ दी गई हैं, जिन्हें एक आम पाठक भी अपनाकर अपना जीवन सजा , संवार व सुखी-संपन्‍न बना सकता है।

RELATED BOOKS

RECENTLY VIEWED BOOKS

BACK TO TOP