Call Us: +91 99581 38227

From 10:00 AM to 7:00 PM (Monday - Saturday)

Dhyan Vidhiyan
  • SKU: KAB1021

Dhyan Vidhiyan

Rs. 68.00 Rs. 80.00
Shipping calculated at checkout.

ध्यान विधिया

क्या तुम ध्यान करना चाहते हो ? तो ध्यान रखना कि ध्यान में न तो तुम्हारे सामने कुछ हो, न पीछे कुछ  हो i  अतीत को मिट जाने दो और भविष्य को भी i स्मृति और कल्पना - दोनों को शून्य होने दो i फिर न तो समय होगा और न आकाश ही होगा i उस क्षण जब कुछ भी नहीं होता है - तभी जानना कि तुम ध्यान में हो i

ध्यान कैसे करो?

ध्यान के लिए पूछते हो कि कैसे करे ? कुछ भी न करो i बस, शांति से श्वास - प्रश्वास के प्रति जागो i होशपूर्वक श्वास -पथ को देखो i श्वास के आने - जाने के साक्षी रो i यह कोई श्रमपूर्ण चेष्ठा न हो, वरन शांत और शिथिल विश्रामपूर्ण बोध - मात्र हो i और फिर तुम्हारे अनजाने ही, सहज और स्वाभाविक रूप से एक अत्यंत प्रसादपूर्ण स्थिति में तुम्हारा प्रवेश होगा i इसका भी पता नहीं चलेगा तुम कब प्रविष्ट हो गए हो i अचानक ही तुम अनुभव करोगे कि तुम वहां हो, जहा की कभी नहीं थे i

RELATED BOOKS

RECENTLY VIEWED BOOKS

BACK TO TOP