Call Us: +91 99581 38227

From 10:00 AM to 7:00 PM (Monday - Saturday)

Deewan-E-Murshid
  • SKU: KAB0952

Deewan -E -Murshid [Hindi]

Rs. 68.00 Rs. 80.00
Shipping calculated at checkout.

दीवान - ए - मुर्शिद

दीवाने - ए - मुर्शिद '  इश्केहकीकी अर्थार्त रूहानी प्रेम की गजलो का संग्रह हैI इसलिए साधना की दृष्टि से इनका विशेष महत्व है l  

ग़ज़ल उर्दू काव्य की एक विधा है, जिसमे प्रायः ५ से ११ शेर होते है I सारे शेर एक ही रदीफ़,(अन्त्यानुप्रास)और क़ाफ़िए (पूर्व अत्यानुप्रयास) में होते है और हर शेर का मज़्मून अलग होता है I जैसे 'चुपके- चुपके रात -दिन आंसू बहाना याद है ' नामक प्रसिद्ध गजल में 'बहाना' काफिया है और 'याद है' रदीफ़ है I हर शेर का मज़्मून अलग होता है I पहला शेर 'मत्ला' कहलाता है, जिसके दोनों मिस्रे सानुप्रास होते है I अंतिम शेर 'मक्ता' कहलाता है, जिसमे शायर अपना उपनाम लाता है I ग़ज़ल के संग्रह को 'दीवान 'कहते है I

प्रस्तुत दीवान में जो भी गजले है, उनमे काफिया का तो ध्यान रखा गया है, लेकिन अभिव्यक्ति की सुंदरता को प्रधानता देने के कारण रद्दीफ के नियम का पालन करना संभव नहीं हो पाया है i मुझे पता है क़ि गजल के प्रेमियो को इससे तकलीफ होगी, इसलिए अपनी इस भूल के लिए मैं उनसे क्षमा मांग लेता हु l

इनमे अधिकांश गजले मेरे पूर्व प्रकाशितगित संकलन 'ओशो गीता ' में संग्रहित है, लेकिन कई मित्रो के आग्रह पर दीवान के रूप में पहली बार इन्हे प्रकाशित किया जा रहा है i

 ये सभी गजले कामिल मुर्शिद और मेरे प्यारे गोविन्द की याद से लवरेज है I 

Deewan-E-Murshid

 

RELATED BOOKS

RECENTLY VIEWED BOOKS

BACK TO TOP