daag-ki-shayri
  • SKU: KAB1219

Daag ki Shayri [Hindi]

₹ 68.00 ₹ 80.00
Shipping calculated at checkout.

दाग की शायरी

इतिहास में एक से बढ़कर एक ऐसे शायर हुए है, जिनका नाम किसी तआरुफ़ का मोहताज नहीं है l दाग उन्हीं अजीम शायरों में शामिल है l शायरी की दुनिया में उनका नाम बड़े अदब से लिया जाता है l 'मीर ' मोमिन, जौक और ग़ालिब के साथ ही दाग एक ऐसे शायर थे, जिन पर उर्दू अदब को नाज है l उनके शेर पढ़कर जुबां से अनायास ही वाह-वाह निकल पड़ती है :-

तुम्हारे खत में नया इक सलाम किसका था l

न था रकीब तो आखिर वह नाम किसका था

है मेरे दिल की तबाही पे तअज्जुब क्या खूब

आप बरबाद करे जिसको वो बरबाद न हो l

'दाग' को हमने मोहब्बत में बहुत समझाया

वह कहा मान न लेता अगर इन्सा होता l

RELATED BOOKS

RECENTLY VIEWED BOOKS

BACK TO TOP