Call Us: +91 99581 38227

From 10:00 AM to 7:00 PM (Monday - Saturday)

Shree Duttatreya Tantra Pryog - Hindi
  • SKU: KAB0819

Shree Duttatreya Tantra Pryog [Hindi]

Rs. 85.00 Rs. 100.00
Shipping calculated at checkout.

श्री दत्तात्रेय तंत्र प्रयोग

विभिन्न तंत्र प्रयोगो के साथ श्री दत्तात्रेय उपासना की सरल जानकारी

ब्रह्मा, विष्णु और महेश इन त्रिदेवो की साक्षात्मूर्ति है श्रीदत्तात्रेय l महर्षि अत्रि की पत्नी अनसूया के गर्भ से श्री दत्तात्रेय का अवतरण हुआ, ऐसी कथा प्रचलित  है l श्री मद्भगवत्गीता में श्री दत्तात्रेय का ऐसे परम् अवधूत के रूप में वर्णन मिलता है जो सैदेव आत्मस्थ है l इस प्रकार यधपि श्रीदत्तात्रेय को किसी वास्तु की कामना नहीं है, वे सत्य संकल्प है,

फिर भी जनकल्याणार्थ उन्होंने ऐसे तंत्र प्रयोगों की चर्चा की है, जिनसे जनसमान्य की लौकिक समस्याओ  की लौकिक समस्याओ का निराकरण हो सके l वह कुछ पलों के लिए ही सही सुखी हो lइसीलिए इस ग्रन्थ में तंत्र साधना का उल्लेख संकेत रूप में किया गया है l जिन इष्टसिद्धिदाता प्रयोगो का उल्लेख इस ग्रन्थ में किया गया है, उससे प्रत्येक व्यक्ति लाभान्वित हो सकता है l

मान्यता है कि जो व्यक्ति श्रीदत्तात्रेय की सकाम या निष्काम भाव से पूजा -अर्चना करता है उसे फिर अन्य देवता की उपासना करने की आवश्यकता नहीं होती - समस्त देवी -देवताओ का स्रोत त्रिदेव ही तो है l इसीलिए इस ग्रन्थ में अलग से श्रीदत्तात्रेय पूजन का संक्षिप्त लेकिन उपयोगी विधान भी दिया गया है l जो सद्गृहस्थ कुल-परम्परा से श्रीदत्तात्रेय का नित्य पूजन- वंदन करते है, उनके लिए भी यह पुस्तक उपयोगी सिद्ध होगी, ऐसा हमारा विशवास है l

RELATED BOOKS

RECENTLY VIEWED BOOKS

BACK TO TOP